ओलीकर वंश |मध्य प्रदेश के प्रमुख राजवंश

  • प्राचीन मंदसौर जो दशपुर के नाम से जाना जाता था में चौथी शताब्दी के उत्तरार्द्ध में मालवों की एक शाखा ओलिकर वंश की स्थापना हुई
  • औलिकर वंश के प्रारंभिक शासको में जयवर्मन, सिंहवर्मन, नरवर्मन आदि थे
  • इस वंश के शासक विश्ववर्मन के पुत्र बंधुवर्मन का प्रसिद्ध शिला लेख मंदसौर से प्राप्त हुआ है, जिसके अनुसार बंधुवर्मन, गुप्त शासक स्कंद गुप्त का सामन्त बन गया था ।
  • यहीं से प्राप्त एक शिलालेख में राजा यशोवर्मन का उल्लेख है, जिसने भारत की दिगिवजय की ओर जनेन्द्र, नरोधिपति, राजाधिराज, परेश्वर आदि उपाधियाँ धारण की थी
  • मंदसौर शिलालेख के अनुसार यशोधर्मन ने ब्रह्मपुत्र से लेकर महेंद्र पर्वत तक अपना अधिकार कर लिया ।
  • यशोधर्मन ने हूण नरेश मिहिरकुल को भी पराजित किया

Leave a Comment